Monday, 24 September 2018

Uptet syllabus की perfect की जानकारी यहां पाये

दोस्तो आज हम आपको uptet syllabus के बारे में बताएंगे। जैसा कि आजकल हम देख रहे हैं कि uptet के सारे उमीदवार स्टूडेंट इस समय uptet form भरने में लगे हुए हैं। ये ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद आपको इसकी पढ़ाई करनी पड़ेगी। टेट में पास होने के लिए सही तरीके से तैयारी करनी होगी। तभी जाकर आप इस परीक्षा में पास हो पाएंगे। हम आपको बता दें कि किसी भी नौकरी के लिए बहुत सारे उम्मीदवार अप्लाई करते हैं, लेकिन टेस्ट में पास बहुत कम ही लोग हो पाते हैं, क्योंकि test में पास वही लोग होते हैं जो एग्जाम की तैयारी सिलेबस के अनुसार सही तरीके से करते हैं। इसीलिए हम आपके लिए uptet syllabus की जानकारी लेकर आये है ताकि आप फॉर्म भरने के बाद इनकी जल्दी से पढ़ाई शुरू कर सके। तो आइए जानते हैं इनकी स्टडी के बारे में।

Uptet syllabus की perfect जानकारी यहां पाये 
            Uptet syllabus primary & junior teacher paper

Uptet syllabus 2018

सबसे पहली जानकारी ये है कि uptet के दो पेपर होते है। पहला पेपर प्राइमरी टीचर के लिए और दूसरा सहायक जूनियर टीचर के लिए। इस तरह इन दोनों का सिलेबस भी अलग - अलग है।

Uptet syllabus Primary teacher paper - 1

Group - 1

Child Development  (बाल विकास)
Methodology  (कार्यप्रणाली)
Pedagogy  (शिक्षाशास्त्र)
30 Questions  30 Marks

Group - 2

Language - 1  Hindi (भाषा - 1  हिन्दी)
30 Questions 30 Marks

Group - 3

Language - 2 (Any one from English, Urdu & Sanskrit) (भाषा - 2 अंग्रेजी, उर्दू और संस्कृत में से कोई एक)
30 Questions 30 Marks

Group - 4

Mathematics (गणित)
30 Questions 30 Marks

Group - 5

Environmental Studies (पर्यावरण अध्ययन)
30 Questions 30 Marks

Uptet syllabus के अनुसार पहला पेपर पांच भागो में बंटा हुआ होता है। ये सभी के लिए कॉमन पेपर होता है। चाहे स्टूडेंट ने किसी भी स्ट्रीम से पढ़ाई की हो। सभी भागों में 30-30 प्रश्न पूछे जाते हैं। सभी प्रश्न 1 नंबर के होते हैं और इस तरह से 150 प्रश्न 150 अंक के होते हैं और ये आपको 2 घंटे 30 मिनट में पूरे करने हैं।

इसे भी पढ़ें :

• Foreign Language में बनाये best करियर

• Railway Group D की कम्प्लीट जानकारी

Uptet syllabus Junior teacher Paper - 2

Group - 1

Child Development  (बाल विकास)
Learning  (सिखाना)
Pedagogy  (शिक्षाशास्त्र)
30 Questions 30 Marks

Group - 2

Language - 1 Hindi  (भाषा - 1 हिन्दी)
30 Questions 30 Marks

Group - 3

Language - 2 (Any one from English, Urdu & Sanskrit)  (भाषा - 2 अंग्रेजी, उर्दू और संस्कृत में से कोई एक)  
30 Questions 30 Marks

Group - 4

Mathematics & Science or Social Studies & Social Science    (गणित और विज्ञान या सामाजिक अध्ययन और सामाजिक विज्ञान)
60 Questions 60 Marks

Uptet syllabus के अनुसार दूसरा पेपर चार भागों में बंटा हुआ होता है। ये   पेपर सभी के लिए समान नही होता है। ये अलग - अलग स्ट्रीम के अनुसार दो तरह के पेपर होते हैं। जो स्टूडेंट science, math या biology से पढ़ते हैं उन्हें uptet mathematics & science का पेपर दिया जाता है। इसके साथ ही जो लोग commerce या art से पढ़ते है उन्हें uptet syllabus के अनुसार social studies & social science का पेपर दिया जाता है। इसमे भी 150 प्रश्न 150 अंक के होते हैं और ये पेपर भी 2 घंटे 30 मिनट में पूरा करना होता है।

Uptet news

अब एक सबसे जरूरी बात ये है कि इस बार आपके पास  शिक्षक बनने का ये एक बहुत ही अच्छा मौका है। वो कैसे हम आपको बताते हैं देखिए 18 सितम्बर से  4 अक्टूबर तक uptet के ऑनलाइन फॉर्म भरे जाएंगे। 18 अक्टूबर को admit card अपलोड हो जाएंगे। इसके बाद 4 नवम्बर को इसका टेस्ट होगा, फिर इसके बाद 20 नवम्बर को इसका रिजल्ट आएगा। इसके कुछ ही दिन बाद दिसम्बर के पहले सप्ताह में शिक्षक भर्ती परीक्षा होगी। इसके बाद दिसम्बर के आखिरी सप्ताह में इस परीक्षा का रिजल्ट घोषित होगा। इसके बाद नए साल में प्रवेश करते ही जनवरी के पहले सप्ताह में टीचर बनने के जॉइनिंग लेटर भेज दिया जाएगा। इस लिए इस बार आपको बिल्कुल चूकना नहीं है। आपको uptet syllabus के अनुसार पढ़ना हैं। ये आपके लिए एक गोल्डन चांस है।
नोट - ऊपर दी गई इन तिथियों में या इस शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में सरकारी विभाग द्वारा कोई भी फेर - बदल हो सकता है। इसमे हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है। ये अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार है।

इसे भी पढ़ें :

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

• Chemical Engineer कैसे बना जाये

Uptet eligibility

इसके बारे में हम आपको कोई भी जानकारी दे देते हैं यूपीटेट के लिए वही स्टूडेंट योग्य है किसने ग्रेजुएशन 50% अंकों के साथ पास किया हो और इसके बाद में बीटीसी या बीएड भी 50% अंकों के साथ पास किया आरक्षित उम्मीदवार को में 5% की छूट का प्रावधान है
इसका फॉर्म भरने के लिए उम्मीदवार की 18 से 35 वर्ष तक निर्धारित की गई है और इसके साथ ही आरक्षित उम्मीदवार को 18 से 40 वर्ष तक प्रावधान दिया गया है। यदि आपको uptet syllabus से संबंधित कोई और जानकारी चाहिए तो आप official website www.upbasiceduboard.gov.in पर जाकर देख सकते हैं।

Uptet book

इसके लिए book की बात करें तो आप नीचे बताई गई books में से कोई भी ले सकते हो। हम आपको बुक्स के बारे में अच्छी से अच्छी जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं।
अरिहंत पब्लिकेशन
विद्या प्रकाशन मंदिर लिमिटेड
जी के पब्लिकेशन प्राइवेट लिमिटेड
रमेश पब्लिशिंग हाउस

दोस्तो हम आप से यही कहना चाहेंगे कि आप uptet syllabus के अनुसार एग्जाम की तैयारी करें और इस टेस्ट में पास हो जाइये। एक बात और कहना चाहेंगे कि कोई भी test देने से पहले उस परीक्षा के पुराने exam paper को जरूर पढ़ें और उन्हें हल करें। इससे आपकी प्रेक्टिस हो जाती है और आपको टेस्ट क्वालीफाई करने का तरीका भी मालूम पड़ जाता है। ऐसा ही आपको इस एग्जाम में भी करना है। आपको पिछली साल के पुराने पेपर जरूर देखने हैं। अब आपके पास समय ज्यादा नही है, जल्दी से test की तैयारी में लग जाइये। tet पास करके आपके पास जल्दी टीचर बनने का यह एक सुनहरा अवसर है। ये मौका बेकार नही जाना चाहिए। uptet application form कम्प्लीट करने के बाद सबसे पहले जरूरी है uptet syllabus के अनुसार पढ़ाई करना। इस तरफ पहले ध्यान दीजिए। तभी आप इसमे सफल हो सकते हैं।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Releted Post :

  स्वरोजगार के 5 बड़े फायदे 

  Atul Maheshwari Scholarship की पूरी जानकारी

  Bsc Biology के बाद क्या करें

  Plastic Engineering की पूरी जानकारी हिंदी में  

  Bsc maths में चमकता career बनाये


  Fitness Trainer बनकर पैसा कमाये 

  Makeup Artist कैसे बनें

  Biology Stream में शानदार करियर बनाये 

  Science Stream से करियर कैसे बनायें

  Best Business Ideas जिन्हें आप जरूर करना चाहेंगे 

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य


No comments:

Post a Comment