Sunday, 30 June 2019

Rbi governor कौन होता है कम्पलीट जानकारी

दोस्तो क्या आप जानते है कि कागज के सभी नोटो के ऊपर Rbi governor के हस्ताक्षर होते है। कोई भी नोट इनकी इजाजत के बगैर नही छपता है। क्या आपको वर्तमान आरबीआई गवर्नर का नाम पता है। यदि नही मालूम तो कोई बात नही। आज हम आपको शुरुआत से अब तक की पूरी Rbi governor list की जानकारी देंगे। जोकि आपके लिए जानना जरूरी है।

सबसे पहले हम इनके बारे में कुछ जरूरी बातें जान लेते हैं। ताकि आप इनके बारे में सही तरह से समझ सके।

Rbi governor कौन होता है विस्तार से जाने 


Rbi governor information

Rbi governor qualification (शैक्षिक योग्यता)

आरबीआई गवर्नर के लिए सरकार ने कोई जरूरी शैक्षिक योग्यता का नियम नही बनाया है। सिर्फ ये योग्यता होना आवश्यक है कि वह अर्थशास्त्र और फाइनेंशियल का जानकार हो। वह पूरे देश की अर्थव्यवस्था को संभाल सके। अभी तक तो अधिकतर आईएएस अधिकारियों को गवर्नर बनाया गया है।

Rbi governor salary (वेतन)

जिस व्यक्ति के ऊपर नोट छापने की जिम्मेदारी हो तो सोचिये कि उसकी सैलरी कितनी होगी। जी हां हम आपको बता देते है कि वर्तमान में आरबीआई गवर्नर को 2.5 लाख रुपये मासिक वेतन मिलता है। पहले ये वेतन 90 हजार रुपये था। लेकिन उर्जित पटेल के गवर्नर बनने के बाद ये वेतन बढ़ा कर 2.5 लाख रुपये कर दिया गया है। इस विभाग में एक डिप्टी गवर्नर होता है, जिसे 2.25 लाख रुपये प्रति माह दिया जाता है। ये दोनों मिलकर देश अर्थव्यवस्था की बागडोर को संभालते हैं।

आरबीआई गवर्नर की नियुक्ति

गवर्नर की नियुक्ति के लिए अलग से कोई व्यक्ति नियुक्त नहीं किया गया है। वैसे तो इनकी नियुक्ति वित्त मंत्री की सलाह पर प्रधानमंत्री के द्वारा की जाती है। इसके साथ ही इस डिपार्टमेंट के अधिकारियों से भी राय ली जाती है। वर्तमान में इनका कार्यकाल चार वर्ष का है। किसी कारणवश यदि ये समय से पहले इस्तीफा देना चाहे तो दे सकते हैं। पहले ऐसा कई बार हुआ है।

Read Also :

• Home Science से जॉब कैसे पाये

• Compartment exam क्यों और कब दे

Rbi governor list

1. ओसबोर्न स्मिथ
1 अप्रैल 1935 से 30 जून 1937

2. जेम्स ब्रेंड टेलर
1 जुलाई 1937 से 17 फरवरी 1943

3. सी. डी. देशमुख
11 अगस्त 1943 से 30 जून 1949

4.  बेनेगल रामा राव
1 जुलाई 1949 से 14 जनवरी 1957

5. के. जी. अमगोंकार
14 जनवरी 1957 से 28 फरवरी 1957

6. एच. वी. आर इएंगेर
1 मार्च 1957 से 28 फरवरी 1962

7. पी. सी. भट्टाचार्य
1 मार्च 1962 से 30 जून 1967

8. लक्ष्मीकांत झा
1 जुलाई 1967 से 3 मई 1970

9. बी. एन. अडारकार
4 मई 1970 से 15 जून 1970

10. एस. जगन्नाथन
16 जून 1970 से 19 मई 1975

11. एन. सी. सेन गुप्ता
19 मई 1975 से 19अगस्त 1975

12. के. आर. पुरी
20 अगस्त 1975 से 2 मई 1977

13. एम. नरसिम्हन
3 मई 1977 से 30 नवंबर 1977

14. आई. जी. पटेल
1 दिसंबर 1977 से 15 सितंबर 1982

15. मनमोहन सिंह
16 सितंबर 1982 से 14 जनवरी 1985

16. अमिताभ घोष
15 जनवरी 1985 से 4 फरवरी, 1985

17. आर. एन. मल्होत्रा
4 फरवरी 1985 से 22 दिसंबर 1990

18. एस. वेंकटरमन
22 दिसंबर 1990 से 21 दिसंबर 1992

19. सी. रंगराजन
22 दिसंबर 1992 से 21 नवंबर 1997

20. बिमल जालान
22 नवंबर 1997 से 6 सितंबर 2003

21. वाई. वेणुगोपाल रेड्डी
6 सितंबर 2003 से 5 सितंबर 2008

22. डी. सुब्बाराव
5 सितंबर 2008 से 4 सितंबर 2013

23. रघुराम राजन
4 सितंबर 2013 से 4 सितंबर 2016

24. उर्जित पटेल
4 सितंबर 2016 से 11 दिसंबर 2018

25. शशिकांत दास
12 दिसंबर 2018 से अब तक

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

आरबीआई गवर्नर के कार्य

Rbi governor एक बहुत बड़ी और जिम्मेदारी की पोस्ट है। इनका कार्य वित्त से संबंधित होता है। देश के लिए मुद्रा को जारी करना, खराब मुद्रा को नष्ट करना, बैंको की साख को बनाये रखना, विदेशी मुद्रा की व्यवस्था करना और देश के लिए मौद्रिक नीति तैयार करना। ये सब इनके कार्यो में शामिल हैं। जोकि इन्हें बखूबी करने होते हैं।

सरकार के लिए ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। इसके बगैर देश की अर्थ व्यवस्था को सही दिशा में नही ले जा सकते हैं। सरकार और देश के लिए इनका होना अति आवश्यक है। जैसे प्रधानमंत्री देश का प्रधान होता है। ठीक इसी तरह Rbi governor मुद्रा व बैंको का प्रधान होता है। तभी तो ये देश सही दिशा में बढ़ता है।

हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Popular Post :

  Mutual fund scheme में कौन सा प्लान चुने

  International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

  Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  Makeup Artist कैसे बनें

  Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 



Wednesday, 26 June 2019

Home Science से जॉब कैसे पाये

Home Science लड़कियों का सब्जेक्ट है। इस विषय से पढ़ कर लड़कियां एक सुनहरा भविष्य बना सकती हैं। इसकी पढ़ाई 10वीं के बाद शुरू होती है। इसे हिंदी में गृह विज्ञान कहा जाता है। यह घर को सजाने - संवारने की कला और विज्ञान है। इसलिए इसकी पढ़ाई विज्ञान और कला दोनों वर्ग से की जाती है।

ba home science के तहत घर को सजाने व संवारने, साफ - सफाई, चाइल्ड डेवलपमेंट, फैमिली रिलेशन, खाना बनाना ये सब  सिखाया जाता है। इसके अलावा टेक्निकल ज्ञान भी दिया जाता है। इसमे कम्युनिटी लिविंग, न्यूट्रिशन, कपड़े का रखरखाव, डिजाइनिंग, इकोनॉमिक्स के बारे में भी सिखाया जाता है। इसमे जॉब के अन्य अवसर भी हैं। आज हम उनके बारे में जानेंगे।

Home Science से जॉब कैसे पाये

Home science jobs

Home science course 

बीए इन होम साइंस
बीएससी इन होम साइंस
एमए इन होम साइंस
एमएससी इन होम साइंस
डिप्लोमा इन होम साइंस
पीएचडी इन होम साइंस

Home science subjects

रिसोर्स मैंनेजमेंट
ह्यूमन डेवलपमेंट
फूड एंड न्यूट्रीशन
फैब्रिक एंड एपैरल साइंस
कम्युनिकेशन एंड एक्टेंशन

रिसोर्स मैंनेजमेंट

रिसोर्स मैनेजमेंट में ऊर्जा संबंधी ज्ञान, घर या ऑफिस की तरक्की संबंधित जानकारी, घर या ऑफिस को सजाने व डिजाइनिंग संबंधित ज्ञान और ग्राहक की लुभाने की कला सिखाई जाती है।

ह्यूमन डेवलपमेंट

इस विषय में जिसमें इंसान की बढ़ती उम्र के अनुसार व्यवहार में जो परिवर्तन आता है। उसको बारीकी से अनुभव के आधार पर समझाया जाता है। यह सब्जेक्ट मानव के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसका प्रयोग जीवन के पहलुओं को समझने के लिए भी किया जाता है।

फूड एंड न्यूट्रीशन

फूड एंड न्यूट्रिशन में भोजन व खाना बनाने संबंधी जानकारी, मिलावटी समान व खराब समान को परखने के बारे में बताया जाता है। खाने व सब्जी को खराब होने से बचाने के गुण भी सिखाये जाते है। स्वास्थ्य व शरीर को निरोगी रखने संबंधित जानकारी भी दी जाती है।

Read Also :

• Compartment exam क्यों और कब दे

• Mutual fund scheme में कौन सा प्लान चुने

फैब्रिक एंड एपैरल साइंस

फाइबर से फैब्रिक बनने तक की पूरी प्रकिया को एपैरल साइंस में बताया जाता है। इसके अलावा कपड़े पर प्रिंटिंग व उनको बनाने की कला, अच्छे कपड़े की पहचान करना तथा कपड़े की मार्केटिंग के बारे में समझाया जाता है।

कम्युनिकेशन एंड एक्टेंशन 

इस सब्जेक्ट में परिवार में बोलचाल का तरीका सिखाया जाता है कि कब, कौन सी जगह पर किस तरह बात करनी है। जिससे सब में संबंध बना रहे। इसके अलावा ऑफिस में सीनियर या ग्राहक से बात करना और उनकी बात को समझने का तरीका बताया जाता है। जिससे सम्बन्धो में मधुरता आये।

Best Home science college

यहां हम आपको इंडिया के बेस्ट होम साइंस कॉलेज के बारे में बता रहे हैं। यहां से स्टडी करने पर नौकरी मिलने के अवसर ज्यादा रहते हैं।

• एसएनडीटी वुमेन विश्वविद्यालय, मुंबई
• यूनिवर्सिटी ऑफ बॉम्बे, मुंबई
• लेडी इर्विन कॉलेज, नई दिल्ली
• इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
• इंस्टीट्यूट ऑफ होम इकोनॉमिक्स, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
• देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर
• राजस्थान एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, बीकानेर
• एन जी रंगा एग्रीकल्चरल विवि, हैदराबाद
• पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, लुधियाना
• सीएसके हिमाचल प्रदेश एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, पालमपुर
• गोविंद बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, पंतनगर
• इलाहाबाद एग्रीकल्चरल इंस्टीट्यूट, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद
• महाराणा प्रताप यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, उदयपुर
• चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, कानपुर
• नरेंद्र देव यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, फैजाबाद

Home science salary

गृह विज्ञान में डिप्लोमा या कोर्स करने के बाद सरकारी और प्राइवेट दोनों फील्ड में नौकरी के चांस रहते हैं। सरकारी नौकरी के बारे में तो सभी जानते हैं, कि इस विभाग में कैसा भविष्य बनता है। इसके साथ ही प्राइवेट डिपार्टमेंट में 20 से 25 हजार रुपये शुरुआत में आसानी से मिल जाते हैं। जैसे - जैसे अनुभव बढ़ता जाता है वैसे - वैसे वेतन बढ़ता जाता है।

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

Home science jobs

होम साइंस से पढ़ाई करके करियर के कई विकल्प खुल जाते हैं। आपको कई फील्ड में जाने का मौका मिलता है।

फैमिली काउंसलर
रिसोर्स मैनेजर
ड्रेस डिजाइनर
सोशल वर्कर
ह्यूमन डेवलपर
अध्यापिका
टेक्सटाइल मर्चेडाइजर
टेक्सटाइल डिजाइनर
फूड टेक्नोलॉजिस्ट
टूरिस्ट रिजोर्ट
टीवी कलाकार
महिला बाल विकास विभाग में नौकरी
हॉस्पिटल और खाद्य सामग्री के क्षेत्र में न्यूट्रिशनिस्ट या डाइटिशियन
खाद्य वस्तुओं के निर्माण और उनके रखरखाव का प्रबंधक
फूड मेकिंग के क्षेत्र में स्वरोजगार का अवसर
रेस्टोरेंट और बड़े होटल में देखरेख का कार्य

Home science में करियर के बारे में जानकारी न होने के कारण छात्राएं इस लाइन में ज्यादा पढ़ाई नही करती हैं। 10वीं और 12वीं में लड़कियां इस सब्जेक्ट को इसलिए ले लेती हैं, क्योंकि वो जानती हैं कि इसकी स्टडी में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी और अच्छे नंबरो से पास हो जाएंगी। लेकिन अब ऐसा नही है। लड़कियां इस विषय के प्रति जागरूक हो रही है। समझदार लड़कियां इसमे करियर बनाने के लिए यह पढ़ाई करती है।

होम साइंस को गहराई से परखा जाए तो इसमे जॉब की अपार संभावनाएं हैं। ये तो आपको चुनना है कि आपको किस फील्ड में जाना है। ये एक बहुत ही interesting subject है। यदि इसे मन लगाकर पढ़ा जाए तो इसे पढ़ने में रुचि आती है। हमारी दी गई जानकारी के द्वारा अब आप भी अपने लिए home science के द्वारा एक खूबसूरत भविष्य बना सकती है।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Popular Post :

  International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

  Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

  Study Site घर बैठे फ्री में पढ़ें

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  Makeup Artist कैसे बनें

  Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 


Sunday, 23 June 2019

Compartment exam क्यों और कब दे

अभी कुछ समय पहले राज्यो के सभी बोर्ड का रिजल्ट घोषित हो चुका है। अब compartment exam का आयोजन किया जाएगा। आप सोच रहे होंगे कि ये कौन सी परीक्षा है ? जब रिजल्ट घोषित हो गया है तो इसकी क्या जरूरत ? आज हम आपको बताएंगे कि राज्य और cbse compartment exam क्या होता है ?

Cbse compartment exam

Compartment exam क्यों और कब दे 

सबसे पहले तो ये जान लेते हैं कि कंपार्टमेंट परीक्षा को अब improvement exam भी कहा जाने लगा है। जो छात्र 10वीं या 12वीं में एक, दो या तीन विषयो में फेल हो जाते है तो उनकी साल को बचाने के लिए सरकार ये परीक्षा आयोजित करती है। इसे cbse board और राज्यो के अन्य बोर्ड भी करवाते है।

इसे इम्प्रूवमेंट एग्जाम इसलिए कहा जाता है, क्योंकि जिन विद्यार्थियों के किसी एक या दो विषयो में नंबर कम आने से या दो - चार नंबरो की वजह से फर्स्ट या सेकंड डिवीजन रह जाती है। तो ऐसे छात्र इस एग्जाम के द्वारा अपने रिजल्ट में बढ़ोत्तरी कर सकते है। इस कारण इसे इम्प्रूवमेंट परीक्षा कहा जाता है।

Read Also :

• Mutual fund scheme में कौन सा प्लान चुने

• International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

इसका पेपर हर साल रिजल्ट जारी होने के बाद जुलाई के महीने में दिया जाता है। इसे देना कोई आवश्यक नहीं है। यदि कोई विद्यार्थी दोबारा से अच्छी तरह तैयारी करके दोबारा एक साल बाद ही पेपर देना चाहता है तो कोई बात नही। वो ऐसा कर सकता है। इसमे परेशानी की कोई बात नही है। 

इस exam की सबसे अहम बात ये है कि हमारे भारत देश की मूल भाषा हिंदी है। ये हमारी राष्ट्र भाषा भी है। इसलिए यदि आप हिंदी मे फेल होते है या कम नंबर आते है तो हिंदी के लिए compartment exam नहीं दिया जा सकता है। हिंदी में आपको मेहनत करके एक ही बार मे उत्तीर्ण होना पड़ेगा। यदि हिंदी में फेल तो पास होने का कोई ऑप्शन नही है। इसलिए यहां तो आपको पास होना ही पड़ेगा।

ये परीक्षा उन लोगो के लिए हैं जो किसी विषय मे कम नंबर ला पाते हैं या किसी विषय मे fail हो जाते हैं। उनका साल खराब न हो इसलिए ये एग्जाम करवाया जाता है। वैसे इसमे सभी छात्र भाग ले सकते है। इसके लिए कोई सख्त नियम नहीं है। इसकी एक फीस जमा होती है। इसके बाद आप इसे आसानी से दे सकते हैं। इसे देने के बाद स्टूडेंट की एक साल बच सकती है।

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

इस एग्जाम में अप्लाई करने के बाद आप किसी भी आगे की पढ़ाई में अप्लाई कर सकते हो। आपके लिए कोई रुकावट पैदा नहीं होगी। लेकिन एक बात जरूर है, यदि आप इस परीक्षा में फेल हो जाते हो तो आपने जिस पढ़ाई के लिए अप्लाई किया है। वो आपका आगे का प्रयास बेकार जाएगा। वैसे इसमे बहुत कम लोग fail होते हैं।

वैसे अब तो आप जान गए होंगे कि compartment exam क्या है ? इसके लिए कब और कैसे आवेदन किया जाता है ? इसे देने से कोई नुकसान नही हैं, बल्कि हर तरह से फायदा ही है। आपकी साल बच सकती है। आप अच्छे अंको से पास हो सकते हो। जो कि आगे नौकरी के समय बहुत काम आते हैं। यदि आपके कम नंबर आये हैं तो आप compartment exam जरूर दीजिये। ये आपके लिए हर तरह से फायदेमंद साबित होगा।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Popular Post :

  Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

  Study Site घर बैठे फ्री में पढ़ें

  University courses list जो करियर बनाये

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  Makeup Artist कैसे बनें

  Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 


  Exam apps जो दिलाये सरकारी नौकरी में सफलता


  

Sunday, 16 June 2019

Mutual fund scheme में कौन सा प्लान चुने

पुनीत सक्सेना

6 साल पहले जनवरी 2013 में SEBI कई सुधारों के साथ सामने आया है, जिसमे mutual fund scheme में प्रत्यक्ष योजनाओं की शरूुआत शामिल है। जबकि निवेशकों ने प्रत्यक्ष योजनाओं के माध्यम से निवेश करना शुरू कर दिया है, निवेशकों को अभी भी mutual fund scheme की प्रत्यक्ष योजनाओं के बारे में कई संदेह और सवाल हैं।

म्यूचुअल फंड में डायरेक्ट (Direct) प्लान क्या हैं? इसकी योजनाओं में निवेश कैसे करना चाहिए ?

Mutual fund scheme in india

Mutual fund scheme में कौन सा प्लान चुने 

एक ही mutual fund scheme को खरीदने के लिए रेगुलर (regular) और डायरेक्ट (Direct) प्लान  सिर्फ दो विकल्प हैं। ये एक ही fund manager द्वारा चलाये जाते हैं, जो एक ही स्टॉक या बॉन्ड में निवेश करते हैं। दोनों के बीच अंतर केवल इतना है कि एक नियमित योजना के मामले में आपके एएमसी या mutual fund house आपके broker को कमीशन का भगुतान करते हैं, जो आपके निवेश से बाहर वितरण खर्च या लेनदेन शुल्क के रूप में होता है, जबकि डायरेक्ट (Direct) प्लान के मामले में ऐसा कोई कमीशन नहीं  होता है।

इसके बजाय इस प्लान के मामले में कमीशन को आपके निवेश संतुलन में जोड़ा जाता है, जिससे आपकी mutual fund scheme के खर्च अनुपात (expense ratio) में कमी आती है और लंबी अवधि में आपका रिटर्न बढ़ता है।

वितरक या म्यूचुअल फंड ब्रोकरों को शामिल किए बिना ही निवेशक डायरेक्ट (Direct) प्लान वाले mutual fund योजनाओं में निवेश कर सकते हैं। उन्हें एएमसी वेबसाइट पर जाने और mutual fund scheme में निवेश करने की प्रक्रिया का पालन करने की आवश्यकता है। पर 2018-19 में  यहां पर बड़े बदलाव आए जैसे कि पेटीएम, ईटी मनी और जिरोधा कोइन जैसे उत्पाद द्वारा भी आप भी इसमें निवेश कर सकते है और चूंकि इन apps के उपयोग के लिए KYC पहले ही हो गाया होता है इसलिए कोई और प्रकिया करना जरूरी नही है।

Read Also :

• International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

• Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

ऐसी म्युचुअल फंड योजनाओं के लिए म्यूचुअल फंड ब्रोकरों को कोई वितरण शुल्क या ट्रेल फीस नहीं दी जाएगी। इसके कारण नियमित योजनाओं की तलुना में व्यय अनुपात कम होगा और निवेशकों को नियमित योजनाओं की तलुना में अधिक रिटर्न मिलेगा। रिटर्न 0.5% से 1% सालाना की दर से अधिक हो सकता है और यह एएमसी खर्च अनुपात पर निर्भर करता है।

इन प्रत्यक्ष योजनाओं के माध्यम से किए गए mutual fund scheme में एकमुश्त निवेश या एसआईपी निवेश के लिए कोई लेनदेन शुल्क नहीं होगा, क्योंकि लेनदेन सीधे एएमसी के साथ किया जाता है। कुछ म्यूचुअल फंड बिचौलिए ऐसे हैं जो लेनदेन शुल्क नहीं लेते हैं क्योंकि वे ट्रेल फीस पर निर्भय रहते हैं। प्रत्यक्ष योजनाओं के लिए एक अलग एनएवी होगा। यह योजना ऐसी प्रत्यक्ष योजनाओं के अंत में अपने विवरण में "डायरेक्ट (Direct)" को निरूपित करेगी।

रेगुलर (Regular) और डायरेक्ट (Direct) mutual fund scheme का औसत व्यय अनुपात (एक्सपेंस रेशियो):

फंड श्रेणी     रेगुलर प्लान    डायरेक्ट प्लान      फर्क

इक्विटी       2.02%           1.22%             0.80%

डेट             0.90%           0.42%             0.48%

हाइब्रिड       1.96%           0.98%             0.98%

स्रोत: वेल्यु रिसर्च 31 मार्च 2019 डेटा

जब आप एक रेगुलर (Regular) प्लान के माध्यम से निवेश करते हैं तो आपको क्या मिल रहा है?

• निवेश की सिफारिशें: म्यचूअुल फंड का प्रदर्शन काफी भिन्न होता है और इसमें निवेश करने के लिए किस फंड का विकल्प महत्वपूर्ण है। योजना (नियमित या प्रत्यक्ष) एक माध्यमिक विचार है। एक अच्छे फंड बनाम एक खराब फंड का विकल्प समय के साथ रिटर्न में 4-5% का अंतर ला सकता है।

• आवधिक समीक्षा या पुनर्संतुलन जैसी निवेश सेवाएं: आपके पोर्टफोलियो की समीक्षा करने और आपको असंतुलित करने में मदद करने से, आपके सलाहकार आपके होल्डिंग्स के प्रदर्शन को और बेहतर बनाएंगे और आपको अधिक लाभ प्राप्त करेंगे। यह आसानी से समय के साथ एक और 1-2% रिटर्न के लायक हो सकता है।

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

• आपके निवेश को सुविधाजनक बनाने, आपके पोर्टफोलियो को ट्रैक करने और खाता परिवर्तन जैसी अतिरिक्त सेवाएं: यह केवल समय और प्रयास को बचाने का सवाल नहीं है। ज्यादातर लोग बस ऐसा नहीं करेंगे और अपने पोर्टफोलियो की उपेक्षा करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप खराब रिटर्न मिलता है और कभी-कभी पैसे भी खो जाते हैं क्योंकि उनके पास अपने निवेश का रिकॉर्ड नहीं होता है।

इसलिए यदि आप गहन ज्ञान के साथ एक मेहनती निवेशक हैं, जिसका अर्थ है कि आप अपने स्वयं के mutual fund scheme को चुन सकते हैं और ट्रैक कर सकते हैं, तो डायरेक्ट (Direct) प्लान बेहतर है। सलाहकार कोई अतिरिक्त मूल्य प्रदान नहीं करता है और उनके शुल्क के लायक नहीं है। हालांकि, ज्यादातर लोगों के लिए किसी की सिफारिश पर भरोसा करना एकमात्र विकल्प है।

यदि वह व्यक्ति या संस्था जानता है कि वे क्या कर रहे हैं और अन्य कारकों से प्रभावित नहीं हो रहे हैं जैसे कि वे कमाते हैं, तो आपको अच्छी सेवा मिलेगी और संभावित रूप से आपके निवेश पर अधिक कमाई होगी। उसके मुकाबले जो खुद आप अपने से डायरेक्ट (Direct) प्लान द्वारा कर सकते हैं। उस मामले में, सलाहकार ने अपनी फीस अर्जित की है। इस तरह mutual fund scheme के रेगुलर  प्लान में निवेश करना आपके लिए बेहतर होगा।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

पुनीत सक्सेना 
C.F.A. इंस्टिट्यूट,U.S.A.
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (I.I.M) लखनऊ से M.B.A
S.E.B.I. रजिस्टर्ड एडवाइजर, वित्तीय मार्केट में 10 साल से ऊपर का अनुभव, ये www.rupeeyog.com के फाउंडर भी हैं।

Popular Post :

  Study Site घर बैठे फ्री में पढ़ें

  University courses list जो करियर बनाये

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  Makeup Artist कैसे बनें

  Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 


  Pgt की कम्पलीट जानकारी हिंदी में 


  

Monday, 10 June 2019

International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

दोस्तो क्या आपको मालूम है कि हर महीने International days पड़ते है। हमे जानकारी न होने के कारण हम इन important days को सेलिब्रेट नही कर पाते हैं। हमे तो इनके बारे में दूसरे दिन मालूम पड़ता है जब तक ये दिवस निकल चुके होते हैं। ये हमारे राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय दिवस होते है। इन्हें मनाने का हमारा अधिकार है।
दूसरी बात ये कि international days की जानकारी हमारे लिए इसलिए भी आवश्यक है, क्योंकि नौकरी की परीक्षाओं में इनके बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं। इस कारण भी हमें इनका ज्ञान होना चाहिए। आईये जानते है इन अंतर्राष्ट्रीय दिवस के बारे में।

International days की सीक्रेट जानकारी हिंदी में

World international days

International days in January

1 जनवरी - वैश्विक परिवार दिवस

6 जनवरी - युद्ध अनाथ बच्चों के लिए विश्व दिवस

9 जनवरी - प्रवासी भारतीय दिवस

10 जनवरी - विश्व हिंदी दिवस

12 जनवरी - राष्ट्रीय युवा दिवस

15 जनवरी - सेना दिवस

18 जनवरी - राष्ट्रीय टीकाकरण (पोलियो) दिवस

23 जनवरी - नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती

24 जनवरी - राष्ट्रीय बालिका दिवस

25 जनवरी - राष्ट्रीय पर्यटन दिवस
                  मतदाता दिवस

26 जनवरी - भारतीय गणतंत्र दिवस

27 जनवरी - अंतर्राष्ट्रीय प्रलय स्मृति दिवस

28 जनवरी - लाला लाजपत राय जयंती
                  डेटा संरक्षण दिवस

30 जनवरी - महात्मा गांधी के शहीदी दिवस

31 जनवरी - विश्व कुष्ठ उन्मूलन दिवस

Read Also :

• Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

• Study Site घर बैठे फ्री में पढ़ें

International days in February

4 फरवरी - विश्व कैंसर दिवस

5 फरवरी - कश्मीर दिवस

6 फरवरी - स्त्री जननांग विकृति के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस

11 फरवरी - बीमार का विश्व दिवस

13 फरवरी - सरोजिनी नायडू जयंती

14 फरवरी - वेलेंटाइन डे

20 फरवरी - विश्व सामाजिक न्याय दिवस

21 फरवरी - अंतर्राष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस

22 फरवरी - विश्व स्काउट दिवस

24 फरवरी - केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस

28 फरवरी - राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

International days in March

3 मार्च - राष्ट्रीय रक्षा दिवस

4 मार्च - राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस

8 मार्च - अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

10 मार्च - सीआईएसएफ स्थापना दिवस

15 मार्च - विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस

16 मार्च - राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस

18 मार्च - भरतीय आयुध कारखाना दिवस

21 मार्च - विश्व वानिकी दिवस

22 मार्च - विश्व जल दिवस

23 मार्च - विश्व मौसम विज्ञान दिवस

24 मार्च - विश्व टीबी दिवस
              अंतर्राष्ट्रीय एचीवर्स दिवस

27 मार्च - विश्व नाटक दिवस

International days in April

1 अप्रैल - मूर्ख दिवस

2 अप्रैल - विश्व आत्मकेंद्रित जागरूकता दिवस

4 अप्रैल - अंतर्राष्ट्रीय खान जागरूकता दिवस

5 अप्रैल - राष्ट्रीय समुद्री दिवस

7 अप्रैल - विश्व स्वास्थ्य दिवस

12 अप्रैल - विश्व विमानन डे

13 अप्रैल - जलियांवाला बाग नरसंहार डे

14 अप्रैल - डॉ. बी. आर. अम्बेडकर जयंती

17 अप्रैल - विश्व हीमोफीलिया दिवस

18 अप्रैल - विश्व विरासत दिवस

22 अप्रैल - विश्व पृथ्वी दिवस

23 अप्रैल - विश्व पुस्तक और कॉपीराइट डे

24 अप्रैल - विश्व लैब पशु डे

25 अप्रैल - विश्व मलेरिया दिवस

26 अप्रैल - विश्व बौद्धिक संपदा दिवस

28 अप्रैल - अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक स्मृति दिवस

29 अप्रैल - विश्व नृत्य दिवस

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

International days in May

1 मई - अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस

3 मई - अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा दिवस
           प्रेस स्वतंत्रता दिवस

8 मई - अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस दिवस

11 मई - राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस

12 मई - अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस

15 मई - अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस

17 मई - सूचना समाज डे

20 मई - विश्व मेट्रोलोजी डे

21 मई - विश्व संवाद और विकास के लिए सांस्कृतिक विविधता  दिवस

22 मई - अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस

23 मई - विश्व कछुआ दिवस

25 मई - विश्व थायराइड डे

31 मई - विश्व तंबाकू विरोधी दिवस

International days in June

4 जून - आक्रामकता के मासूम बच्चों के शिकार के अंतर्राष्ट्रीय                दिवस

5 जून - विश्व पर्यावरण दिवस

8 जून - विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस
           विश्व महासागर दिवस

12 जून - वैश्विक बाल श्रम के खिलाफ दिवस

14 जून - विश्व रक्त दाता दिवस

17 जून - बंजर और सूखे के लिए दुनिया का मुकाबला डे

18 जून - इंटरनेशनल पिकनिक डे

20 जून - विश्व शरणार्थी दिवस

21 जून - विश्व संगीत दिवस

26 जून - नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के                    खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस

International days in July 

1 जुलाई - इंटरनेशनल जोक डे

2 जुलाई - वर्ल्ड स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट डे

6 जुलाई - विश्व ज़ूनोसेस डे

11 जुलाई - विश्व जनसंख्या दिवस

26 जुलाई - कारगिल विजय दिवस

27 जुलाई - केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) का                            स्थापना  दिवस

28 जुलाई - विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस
                 विश्व हेपेटाइटिस डे

International days in August

6 अगस्त - हिरोशिमा दिवस

9 अगस्त - नागासाकी दिवस
               भारत छोड़ो आंदोलन दिवस

12 अगस्त - अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस

15 अगस्त - भारतीय स्वतंत्रता दिवस

19 अगस्त - विश्व फोटोग्राफी दिवस

20 अगस्त - सद्भावना दिवस
                 विश्व मच्छर डे

21 अगस्त - विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस

23 अगस्त - दास व्यापार और इसके उन्मूलन के स्मरण के लिए  अंतर्राष्ट्रीय दिवस

26 अगस्त - महिलाओं की समानता दिन

29 अगस्त - खेल दिवस (ध्यानचंद के जन्मदिन)

International days in September

2 सितंबर - नारियल डे

5 सितंबर - शिक्षक दिवस

8 सितंबर - अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस

10 सितंबर - वर्ल्ड एंटी आत्महत्या डे

14 सितंबर - हिंदी दिवस

15 सितंबर - अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस
                  इंजीनियर्स डे

16 सितंबर - विश्व ओजोन दिवस

21 सितंबर - अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस
                  विश्व शांति दिवस

27 सितंबर - विश्व पर्यटन दिवस

28 सितंबर - विश्व रेबीज दिवस

Read Also :

• Makeup Artist कैसे बनें

• Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

International days in October

1 अक्टूबर - विश्व शाकाहारी दिवस
                 बुजुर्गों के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

2 अक्टूबर - गांधी जयंती
                अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस

4 अक्टूबर - विश्व पशु कल्याण डे

5 अक्टूबर - विश्व शिक्षक दिवस

8 अक्टूबर - भारतीय वायु सेना दिवस

9 अक्टूबर - विश्व डाक दिवस

10 अक्टूबर - विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस

14 अक्टूबर - विश्व मानक दिवस

16 अक्टूबर - विश्व खाद्य दिवस

17 अक्टूबर - अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस

20 अक्टूबर - राष्ट्रीय एकता दिवस

24 अक्टूबर - विश्व विकास सूचना दिवस

31 अक्टूबर - विश्व बचत दिवस


International days in November

1 नवंबर - विश्व शाकाहारी दिवस

5 नवंबर - विश्व बातचीत डे

6 नवंबर - युद्ध में पर्यावरण का शोषण की रोकथाम के लिए                     अंतर्राष्ट्रीय दिवस

7 नवंबर - शिशु संरक्षण दिवस
              विश्व कैंसर जागरूकता दिवस

8 नवंबर - विश्व रेडियोग्राफ़र डे

9 नवंबर - विधिक सेवा दिवस

10 नवंबर - परिवहन डे

14 नवंबर - बाल दिवस

16 नवंबर - अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता शांति दिवस

17 नवंबर - अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थी दिवस

19 नवंबर - विश्व शौचालय दिवस
                अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस
                राष्ट्रीय एकता दिवस

20 नवंबर - अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस

21 नवंबर - विश्व मछुवारा दिवस
                वर्ल्ड टेलीविजन डे

25 नवंबर - महिलाओं के खिलाफ हिंसा के उन्मूलन के लिए                       अंतर्राष्ट्रीय दिवस

26 नवंबर - कानून दिवस

International days in December

1 दिसंबर - विश्व एड्स दिवस

2 दिसंबर - विश्व कम्प्यूटर साक्षरता दिवस
                विश्व प्रदूषण निवारण दिवस

3 दिसंबर - विश्व संरक्षण दिवस
               अंतर्राष्ट्रीय विकलांगता दिवस

4 दिसंबर - भारतीय नौसेना दिवस

5 दिसंबर - अंतरराष्ट्रीय आर्थिक और सामाजिक विकास                             स्वयंसेवक दिवस

7 दिसंबर - सशस्त्र बल झंडा दिवस

9 दिसंबर - अंतर्राष्ट्रीय दिवस अगेंस्ट करप्शन

10 दिसंबर - विश्व मानव अधिकार दिवस

11 दिसंबर - यूनिसेफ दिवस
                 अंतरराष्ट्रीय पर्वत डे

14 दिसंबर - राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस

20 दिसंबर - अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस

23 दिसंबर - किसान दिवस

हम उम्मीद करते हैं कि आप इनको ध्यान रखने की कोशिश करोगे। इनको समझना बहुत ही जरूरी है। कुछ तो देश की खातिर तो कुछ दूसरों की खातिर। हमेशा हमे अपने लिए ही नहीं बल्कि दूसरों के बारे में भी सोचना चाहिए। आखिरकार हम सब एक ही देश के निवासी हैं। अब समय न गंवाते हुए जब भी मौका मिले international days के बारे में जरूर जानिए।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Popular Post :

  University courses list जो करियर बनाये

  Ugc net क्या है सॉलिड जानकारी

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  SSC MTS में नौकरी पाने का सुनहरा अवसर जल्दी apply करे

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 


  Pgt की कम्पलीट जानकारी हिंदी में 


  Computer Science में करियर की अपार संभावनाएं      जरूर पढ़ें 

Monday, 3 June 2019

Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

दोस्तो हमारे देश मे रोजाना मोटर साइकिल से एक्सीडेंट होते हैं। क्या आपको पता है कि इनके लिए Motorcycle Accident Lawyer की आवश्यकता पड़ती है। जो इन एक्सीडेंट केस को सॉल्व करते हैं।  ये वकील two wheeler accident से सम्बंधित मामलों का निपटारा करते हैं। इनको injury lawyer भी कहा जाता है।

आज के समय में वाहनों की संख्या दिन - प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और ये एक्सीडेंट की घटनाएं भी बढ़ती जा रही है। इसी कारण बड़े लोग motorcycle personal injury lawyer भी रखने लगे है। जो इनके accident case को अच्छी तरह सॉल्व करते हैं। ये इसके अलावा दूसरी पार्टी से मुआवजा या क्लेम भी दिलवाते है। ये भी इनके work में शामिल है।

Personal motorcycle accident lawyer

Motorcycle Accident Lawyer कैसे बने

ये पेशा आजकल खूब फल - फूल रहा है। लोगों की रुचि इस फील्ड में बढ़ती जा रही है। अब सवाल ये उठता है कि motorcycle accident lawyer कैसे बना जाता है ? इसके लिए कौन सी पढ़ाई की जाती है ? हम आपको यहां पर इसकी सारी जानकारी दे रहे हैं।

Motorcycle Accident Lawyer Eligibility

वकील बनने के लिए कम से कम 12वीं 50 प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण होना आवश्यक है। जो स्टूडेंट आरक्षित वर्ग में आते है उनको 5% की छूट देते हुए 45 प्रतिशत अंको से साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।

जो स्टूडेंट स्नातक के बाद ये पढ़ाई करना चाहते हैं तो उन छात्रों को भी 50 प्रतिशत से पास होना चाहिए। आरक्षित वर्ग को 45 प्रतिशत अंको से पास होना चाहिए।

Motorcycle Accident Lawyer Course

सभी लोग जानते है कि वकालत करने के लिए LLB करनी पड़ती है। तब जाकर वकील बनते हैं। कोई व्यक्ति कैसा भी लॉयर बनना चाहे, इसके लिए उसे एलएलबी की पढ़ाई करनी होती है।

सबसे पहले तो इसकी फुल फॉर्म जान लेते हैं। इसकी फुल फॉर्म Bachelor of Law होती है। इसे वकालत की पढ़ाई भी कहते हैं।

ये कोर्स दो तरह से होता है। यदि आप 12वीं के बाद इसे करना चाहते हैं तो ये 5 साल का कोर्स है। यदि इसे ग्रेजुएशन के बाद किया जाता है तो ये 3 साल में कम्प्लीट होती है। दोनों की वैल्यू बराबर है। करियर के लिहाज से दोनों में बिल्कुल भी फर्क नही है।

Read Also :

• Study Site घर बैठे फ्री में पढ़ें

• University courses list जो करियर बनाये

Motorcycle Accident Lawyer कैसे बना जाये

ये बात तो आप जान ही चुके हैं कि इनको injury lawyer भी कहा जाता है। जिसे हिंदी में चोट वकील कहते हैं।
Injiry lawyer बनने के लिए अलग से कोई पढ़ाई नही है। ये सब आपके एलएलबी सब्जेक्ट पर निर्भर करता है। ये हम आपको इन subject के द्वारा समझाते हैं।

LLB Subject

Semester - First

Labour Law
Family Law
Crime law
Optional Subject (Any One)
1 - Trust
2 - Contract
3 - Criminology 
4 - Women & Law
5 - International Economics Law

Semester - Second

Constitutional Law
Family Law
Professional Ethics
Law of Tort & Consumer Protection Act

Semester - Third

Law of Evidence
Environmental Law
Human Rights & International Law
Arbitration, Conciliation & Alternative

Semester - Four

Jurisprudence
Practical Training – Legal Aid
Property Law including transfer of Property Act
Optional Subject (Any one)
1 - Law of Insurance
2 - Comparative Law
3 - Intellectual Property Law
4 - Conflict of Law

Semester - Five

Legal Writing
Interpretation of Statutes
Administrative Law
Civil Procedure Code
Land Laws including ceiling and other local law

Semester - Six

Company Law
Code of Criminal Procedure
Practical Training – Moot Court
Practical Training – Drafting
Optional Subject (Any one)
1 - Law of Taxation
2 - Co-operative Law
3 - Investment & Securities Law
4 -Banking Law including Negotiable Instruments Act

Motorcycle Accident Lawyer बनने के लिए LLB के अलावा कोई अलग पढ़ाई नही है। इसमे बस आपको law of tort और law of crime विषय को मन लगाकर ध्यान से पढ़ना है। इनको गहराई से समझना है। ये सब्जेक्ट injury lawyer बनने में सहायक होते हैं।
इसके अलावा इन विषयों को लेकर LLM का दो वर्षीय मास्टर कोर्स भी कर सकते हो। इससे आप इस फील्ड की मास्टर डिग्री पा सकते हो। इसे करने से वकील बनने में आसानी प्राप्त होती है। इस फील्ड में पढ़ाई के अलावा प्रैक्टिस को ज्यादा महत्व दिया जाता है।

Read Also :

• Bsc Biology के बाद क्या करें

• जल्दी करोड़पति कैसे बने 

Accident attorney blog

इन मामलों में जानकारी बढ़ाने के लिए इंटरनेट पर इनके ब्लॉग भी बने हुए है। आप यहां से अपनी समस्या का समाधान व जानकारी पा सकते हैं।
www.johnbales.com
www.spadalawgroup.com
www.dolmanlaw.com
www.victimslawyer.com
www.thefloridafirm.com

दोस्तो आज के युवाओं में बाइक खरीदने और चलाने का जोश बढ़ने से एक्सीडेंट की घटनाएं बढ़ती जा रही है। इस कारण motorcycle accident lawyer के पेशे में स्कोप बढ़ता जा रहा है। ऐसे केस की सुनवाई भी रोजाना कोर्ट में होती है। इससे भी अच्छा पैसा कमाया जा सकता है। बहुत लोग इस फील्ड में आ रहे है। आप भी इसमे करियर बना सकते है। लेकिन ये एक बहुत ही जिम्मेदारी व दिमाग वाला पेशा है। यहां गलती की गुंजाइश नही है। गलती होने का मतलब है केस को हारना। और बार - बार हारने से वकील का करियर हमेशा डूबता है। इसलिए दिमाग का सही प्रयोग करके अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए ही motorcycle accident lawyer बनें।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें  safaladda@gmail. com  पर भेज सकते हैं।

Popular Post :

  Ugc net क्या है सॉलिड जानकारी

  Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

  SSC MTS में नौकरी पाने का सुनहरा अवसर जल्दी apply करे

  Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

  News Anchor बनने की पूरी जानकारी हिन्दी में 

  Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Civil Engineering में बनाये सुनहरा भविष्य 



  Pgt की कम्पलीट जानकारी हिंदी में 


  Computer Science में करियर की अपार संभावनाएं      जरूर पढ़ें