Friday, 27 July 2018

Shoe Manufacturing से कमाये बेशुमार पैसा

दोस्तों आज हम आपको shoe manufacturing के बारे में बताएंगे। हम आपको बताएंगे कि shoe  यानी कि जूता कैसे बनता है ? इसके  बारेे में हम आपको पूरी जानकारी देंगे। shoe manufacturing देखने में तो बहुत छोटी सी चीज है, लेकिन इसे बनाने में बहुत दिमाग और मेहनत लगती है। शू बनाना यह एक ऐसा कारोबार है जिसमें बहुत अधिक और अच्छा पैसा कमाया जा सकता है। हमारे भारत देश में बहुत सारे लोग इस कारोबार से जुड़े हुए हैं। बहुत सारे मजदूरों के पेट भी इस कारोबार से  पल रहे हैं। इस कारोबार में ज्यादा सीखना नहीं है। इस वजह से यह कारोबार आसानी से शुरू किया जा सकता है। यह काम कई खंडों में बँटा हुआ है। यह अलग-अलग प्रोसेस से होता हुआ तैयार होता है। तो आइए जानते हैं की shoe कैसे बनता है और यह कितने भागों में बँटा हुआ है ?



Shoe manufacturing parts

Sole selection

जूता बनाने के लिए सबसे पहले सोल का सिलेक्शन किया जाता है कि हमको शू किस सोल पर तैयार करना है। यही से इसे बनाने का काम start होता है।

Last (फर्मा) selection 

Sole का सेलेक्शन होने के बाद सोल के अनुसार का Last (फर्मा) बनाया जाता है। यह फर्मा इंसान के पैर की भांति पैर का एक खाका होता है। ये फर्मा PVC या प्लास्टिक या फिर कहीं - कहीं पर लोहे का बना हुआ होता है।

Shoe Designing

फर्मा बनने के बाद हमको किस तरह का शू  बनाना है। उसके लिए हम फर्मा और सोल के अनुसार डिजाइन तैयार करते हैं। डिजाइन तैयार होने के बाद उसके अलग-अलग पैटर्न बनाए जाते हैं। इन पैटर्न के द्वारा ही पूरा जूता तैयार होता है।

इसे भी पढ़ें :

• CTET पास करने की पूरी जानकारी हिंदी में

•  Fitness Trainer बनकर पैसा कमाये 

Leather cutting

Pattern बनने के बाद इन पैटर्न से लेदर की कटिंग की जाती है। कहीं-कहीं पर यह जूता सिंथेटिक फोम का बनता है तो वहां पर लेदर की जगह सिंथेटिक फोम की कटिंग की जाती है।

Upper closing

लैदर की कटिंग होने के बाद इन कंपोनेंट को आपस में चिपकाकर जोड़ा जाता है। जोड़ने के बाद इन पर मशीन से सिलाई की जाती है। इस काम को upper closing या फिटर कहा जाता है। यह काम होने के बाद शू अपना रूप ले लेता है। यहां पर आधा जूता तैयार हो जाता है। shoe manufacturing में ये काम बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

Lasting (बॉटम)

यहां पर तैयार अपर की lasting की जाती है। यह lasting फर्मे पर की जाती है। कहने का मतलब यह है कि तैयार upper को टिंगल और चिपकने वाले adhesive के द्वारा फर्मे पर चढ़ाया जाता है बॉटम किया जाता है।

Pesting

अब फर्मे पर बॉटम किये हुए अपर में नीचे की साइड गर्म करके सोल चिपकाया जाता है। इस काम को पेस्टिंग के नाम से पुकारा जाता है। यहाँ lasting किया हुआ upper और sole दोनों को गर्म करके चिपकाया जाता है।

इसे भी पढ़ें :

•  ITI करके करियर बनाये  

•  जल्दी करोड़पति कैसे बने 

Delasting

Last पर सोल pest होने के बाद फर्मे को sole चिपके हुए जूते से अलग किया जाता है। मतलब कि lasting किये हुए shoe से delasting की जाती है।

Finish

अब आपका shoe बनकर तैयार हो चुका है। अब शू को अच्छा दिखाने के लिए इस पर finishing की जाती है। जिससे जूते में चमक आये और देखने में सुंदर लगे।


दोस्तों इस तरह अलग - अलग process से गुजरकर जूता तैयार होता है। तब ये हमारे पैरों में पहुँचता है। तो आपने देखा कि ये एक शू कितने लोगों के हाथों से निकलकर तैयार होता है। लेकिन हम आपको एक बात बता देते हैं कि इस जूते के कारोबार में प्रॉफिट अच्छा मिल जाता है। जिससे कमाई अच्छी हो जाती है। यही वजह है कि इस कारोबार को बहुत सारे लोग कर रहे हैं। ये काम आप भी कर सकते हैं और अच्छा पैसा कमा सकते हैं। तो अब देर न करते हुए आप भी shoe manufacturing का बिज़नेस करिये। यहां से पैसा कमा कर अपने सपनों को पूरा करिये।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। हम आपकी problem को दूर करने की पूरी कोशिश करेंगे।

 Releted Post : 

 Makeup Artist कैसे बनें

नौकरी में प्रमोशन कैसे पाये 

 मौसम विज्ञान में करियर कैसे बनाये

 Photography से पैसे कमाने का नया तरीका
  
 Polytechnic कोर्स की full detail हिन्दी में 

 Chemical Engineer कैसे बना जाये

  Phd के बारे में जानकारी  
   
  Science Stream से करियर कैसे बनायें

  Biology Stream में शानदार करियर बनाये 

 Career Option in Commerce Stream के       बारे में जानें

  Art Stream Courses से बनाये लाजवाब करियर 

 Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन   जरूर पढ़ें 

No comments:

Post a Comment